चलो नेट पे दिल लगाते हैं (पद्म सिंह)

internetlove1
फिर एक बार मोहोब्बत में डूब जाते हैं
चलो फिर एक बार नेट पे दिल लगाते हैं
हम अचानक मिलेंगे आर्कुट की गलियों में
और फिर फेसबुक पे अंजुमन सजाते हैं
तुम एक प्यारी प्रोफाइल बना  लेना  
चाहे फोटो सेलेब्रिटी की ही लगा लेना
अपना स्टेटस, सिंगल मै जब दिखाऊंगा
तुम भी लाइक कर के ख्वाहिशें जगा देना
गूगली टाक पे गुफ्तगू चंद कर लेना
मै फेसबुक पे मिलूँगा पसंद कर लेना
अगर मिजाज़ न बहले तो आर्कुट आना
मेरी तस्वीर पिकासा में बंद कर लेना
न ऐतबार रहा अब तो दिले पागल पर
तुम्हीं छाए हो मेरे वर्चुअली बादल पर
प्यार ग्लोबल हुआ जाता है हमारा अब तो
मै तुझे बिंग पे खोजूँ तू मुझे गूगल पर
कभी जी करता है डोमेन तुम्हारा ले लूँ
तुम्हारी प्रोफाइल आज डॉट इन कर लूँ
मगर तुम्हारी होस्टिंग की सोचता हूँ मै
अभी स्पेस ज़रा कम है बड़ा तो कर लूँ
फिर से कुछ गौर करो मेरे दिले बेबस पर
ना सही फेस बुक तो आओ गूगल प्लस पर
चलो कहो कि मुझे ब्लॉग पर पढोगे तुम
और लाइक करोगे हरदम मुझको बज़ पर

मै एक ट्वीट पे दौड़ा न चला आऊँ तो
हाल कुछ भी हो, न स्माइली लगाऊं तो
मुझे कसम है मुझे ब्लाक कर दिया जाए
तुम्हारे ब्लॉग पे टिप्पणी न लिख पाऊँ तो

किसी अनजान को स्पैम बनाकर रखना
और इन हैकरों से दिल को बचाकर रखना
हरेक शाम सरे आम रहूँगा विजिबिल
और तुम खुद को सरे वर्ल्ड छुपा कर रखना

तुम अपने दिल का पासवर्ड न रीसेट करना
वर्चुअल प्रेम से स्पेस न खाली रखना
मिल के दोनों चलो नया जहाँ सजाते हैं
चलो फिर एक बार नेट पे दिल लगाते हैं
…….पद्म सिंह २६-०७-११

(निर्मल हास्य)