हिंदी ब्लॉग विमर्श दिल्ली 13-11-2010 . – पद्म सिंह

Posted on Updated on

दिल्ली में शनिवार 13 November 2010 को प्रवासी टुडे पत्रिका, हिंदी संसारडॉट कॉम  और नुक्कड़ (सामूहिक ब्लॉग) के सप्रयास से ब्लॉग जगत के मूर्धन्य ब्लॉगर समीर लाल जी के भारत आगमन पर हिंदी ब्लॉग विमर्श के बहाने ब्लोगर्स का आभासी दुनिया से निकल का आमने सामने मिलना जुलना हुआ. प्रसिद्द हास्य रचना कार प्रेम जनमेजय जी और कम्प्युटर तकनीक विशेषज्ञ बालेंदु शर्मा दधीचि के सानिध्य में सभी ब्लॉगर्स का मिलना जुलना बड़े ही सहज भाव से हुआ… इस सम्बन्ध में कई ब्लॉगर्स द्वारा विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की जा चुकी है जिसे यहाँ, यहाँ, और यहाँ पढ़ा, देखा  जा सकता है. तीन दिन की अल्पावधि सूचना पर  ब्लॉग विमर्श में लगभग चालीस से पैंतालीस ब्लॉगर्स की उपस्थिति रही… जहाँ समीरलाल जी, के ब्लोगिंग पर अपने विचार और अनुभव से ब्लॉगर लाभान्वित हुए वहीँ  मीडिया रिसर्च स्कालर सुधीर जी के साथ आये उनके छात्रों ने भी ब्लोगिंग के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण ज्ञानार्जन किया. बालेंदु शर्मा दधीचि ने जहाँ हिंदी ब्लोगिंग के विस्तार पर सार्थक प्रयासों की आवश्यकता पर बल दिया वहीँ बहुत से आंकड़ों के साथ हिंदी ब्लॉग कि स्थिति पर भी अपने विचार दिए.

ब्लॉगर्स की संख्या अधिक होने के कारण सबके संक्षिप्त परिचय और विचारों को सुनते सुनते विमर्श के लिए अगले दौर(अनौपचारिक) का समय कम ही रह गया था. यद्यपि बालेंदु जी की कविता पर कई बार ठहाके उछले … किन्तु  समय की कमी के चलते विमर्श औपचारिकता के गंभीर माहौल में धड़कता रहा.

कार्यक्रम से पहले और उसके बाद सभी ब्लॉगर आपस में सहज भाव से मिलते और आनंदित होते हुए दिखे. जहाँ सुधीर जी के साथ आई कई रिसर्च छात्राएं तो राजीव तनेजा के साथ अनुरोध सहित फोटो खिंचवाती दिखीं वहीँ अजय झा के आधुनिक गजेट्स और परिधान से उनकी पहचान में विलम्ब देखा गयाSmile रतन जी शेखावत से मिलना बहुत सुखद रहा क्योकि वो अपनी गंभीर तस्वीर से बिलकुल इतर बहुत ही सहयोगी और मिलनसार किस्म के इंसान हैं.   समयाभाव के कारण विमर्श का दूसरा दौर नहीं चल सका जिसमे अनौपचारिक रूप से रचनाओं और विचारों का प्रवाह और भी सुखद हो सकता था … –

मेरी क्षमता के अनुसार विमर्श में आये हुए ब्लोगर्स के नाम(जितने मै लिख पाया) और ब्लॉग लिंक ये रहे –

  1. अजय कुमार झा-झा जी कहिन
  2. एम्. वर्मा – जज़्बात, प्रवाह, यूरेका
  3. पद्म सिंह-पद्मावलि, अंतस के झरोखों से
  4. अरुण सिरोही- सरोकार
  5. राम बाबू सिंह – एलोवेरा
  6. राजीव तनेजा- हँसते रहो
  7. नीरज जाट जी – मुसाफिर हूँ यारो
  8. तारकेश्वर गिरि –
  9. सुघीर जी और उनके छात्र
  10. रचना जी –  बिना लाग लपेट जो कहा जाए सच है, नारी (इसकी मोडरेटर हैं) आदि
  11. सुनीता सानू – मन पखेरू उड़ चला
  12. जोशीजी
  13. सतीश सक्सेना – मेरे गीत
  14. अपूर्वा बजाज – ब्लॉग सफर
  15. प्रतिभा कुशवाहा
  16. निर्मल वैद्य -मस्ती की पाठशाला
  17. डा.अरविन्द चतुर्वेदी -भारतीयम, जाने भी दो यारो, दिल्ली एक्सप्रेस ब्रिजगोकुलम
  18. कौशल मिश्र
  19. नवीन चन्द्र जोशी
  20. रिया नागपाल – ब्लॉग रिसर्चर
  21. प्रेम जनमेजय- प्रसिद्द हास्य रचनाकार

अंत में समीर जी और ब्लॉगर मित्रों के सुखद सानिध्य के लिए एक गज़ल

दुनिया में रोज़ रोज़ करिश्मा नहीं होता

मांगो जिसे, मिल  जाए, हमेशा नहीं होता

हम देखते थे जिनको खाबो-ख़याल में

वो सामने बैठे हैं भरोसा नहीं होता

सबके लिए है चाँद सितारों की रौशनी

लेकिन हरेक शख्स फलक सा नहीं होता

वो मिल गए तो यूँ लगा के धूप खिल गयी

अब शाम ढले दिल में अँधेरा नहीं होता

इक शख्स धड़कता है सीने में मुसलसल

मै नीम अकेले में अकेला नहीं होता

अपनी वफ़ा की और कहाँ तक मिसाल दूँ

खाबों में न मिल लूँ तो सवेरा नहीं होता

मीराज़ हकीकत में बदल गए आज ‘पद्म’

यूँ रोज़ दोस्तों का नज़ारा नहीं होता

P131110_15.34P131110_15.32

P131110_17.18P131110_16.15

P131110_17.18_[01]P131110_17.18_[02]

भूल वश किसी ब्लॉगर का नाम यदि छूट गया है तो उसके लिए क्षमा प्रार्थी हूँ .. अपना नाम बाद में टिप्पणी या मेल से जुड़वा लें. ….. आपका पद्म ९७१६९७३२६२

Advertisements

25 thoughts on “हिंदी ब्लॉग विमर्श दिल्ली 13-11-2010 . – पद्म सिंह

    M Verma said:
    नवम्बर 14, 2010 को 8:32 पूर्वाह्न

    बहुत सुन्दर रिपोर्ट ..
    चित्र भी शानदार

    rajiv taneja said:
    नवम्बर 14, 2010 को 8:33 पूर्वाह्न

    बढ़िया एवं विस्तृत चित्रमयी रिपोर्ट …

    संजू तनेजा के ब्लॉग का नाम ‘आईना कुछ कहता है’ है… और उसका लिंक है http://sanjutaneja.blogspot.com/

    Ratan Singh Shekhawat said:
    नवम्बर 14, 2010 को 8:57 पूर्वाह्न

    बहुत सुन्दर

    अजय कुमार झा said:
    नवम्बर 14, 2010 को 8:59 पूर्वाह्न

    अमां पद्म भाई , रपट तो धांसू है , यार मगर आपने रचना जी के ब्लॉग का नाम नारी और भी अन्य कई है । स्वान्त: सुखाय कहने का उनका मतल्ब था कि खुद के मुद्दे पर खुद की खुशी के लिए लिखती हूं

    अजय कुमार झा said:
    नवम्बर 14, 2010 को 9:04 पूर्वाह्न

    ओह फ़िर अधूरी बात ही लिख गया

    रचना जी जिस ब्लॉग की मॉडरेटर हैं उसका नाम है नारी
    इसके अलावा उनके अन्य ब्लॉग है नारी का कविता ब्लॉग , बिना लाग लपेट जो कहा जाए सच है , आदि आदि

    padmsingh responded:
    नवम्बर 14, 2010 को 9:07 पूर्वाह्न

    हो गयी न गलती से मिस्टेक … मैंने खोजा था स्वान्तः सुखाय के नाम से लेकिन ब्लॉग नहीं मिला … अब का करूँ ?? चलिए भूल चूक लेनी देनी करते हैं 🙂

    अविनाश वाचस्‍पति said:
    नवम्बर 14, 2010 को 9:14 पूर्वाह्न

    मेरा नाम छूट गया है जी
    नाम भी बतलाना होगा क्‍या
    हा हा हा
    हूं मैं
    बालदिवस है आज
    बच्‍चा हूं मैं
    मैं मुन्‍नाभाई।

    rachna said:
    नवम्बर 14, 2010 को 10:02 पूर्वाह्न

    स्वान्त: सुखाय kaa arth haen jahan mae apnae laekhan kae liyae kisi bhi paese ki kaamna nahin kartee hun .

    rachna said:
    नवम्बर 14, 2010 को 10:04 पूर्वाह्न

    rachna ji par click karane sae galt link khul rahaa haen kripaa kar theek kar dae aabhar hoga

    padmsingh responded:
    नवम्बर 14, 2010 को 11:38 पूर्वाह्न

    हा हा हा … ये भी खूब रही … लेकिन मेज़बानों का नाम खाने वालों में नहीं होता …
    आपने अच्छा किया नाम बता दिया वरना पता नहीं लोग जान पाते या नहीं 🙂

    Shahid Mirza Shahid said:
    नवम्बर 14, 2010 को 12:07 अपराह्न

    बहुत अच्छा लगा इस कार्यक्रम की रिपोर्ट पढ़कर…
    रिपोर्ट के साथ आपकी ग़ज़ल भी बहुत अच्छी लगी

    Suresh Chiplunkar said:
    नवम्बर 14, 2010 को 12:52 अपराह्न

    nice report… औरों की भी पढ़ रहे हैं…

    प्रवीण पाण्डेय said:
    नवम्बर 14, 2010 को 5:17 अपराह्न

    यही माहौल बना रहे।

    बालेन्दु शर्मा दाधीच said:
    नवम्बर 14, 2010 को 5:58 अपराह्न

    बहुत सुंदर विवरण और अच्छे चित्र। धन्यवाद।

    ali syed said:
    नवम्बर 14, 2010 को 6:34 अपराह्न

    बेहतर रपट ,बेहतर गज़ल , अच्छी फोटोज !

    arvind mishra said:
    नवम्बर 14, 2010 को 7:04 अपराह्न

    अच्छी चित्रमय लिंकमय प्रस्तुति -आभार

    Sanjeeva Tiwari said:
    नवम्बर 15, 2010 को 7:55 पूर्वाह्न

    धन्‍यवाद भाई, संपूर्ण रपट.

    Shahnawaz Siddiqui said:
    नवम्बर 15, 2010 को 8:27 पूर्वाह्न

    बहुत बढ़िया रिपोर्ट रही आपकी, सबसे अच्छा यह रहा कि नाम के साथ-साथ ब्लोग्स के लिंक भी दे दिए आपने. बेहतरीन!

    satish saxena said:
    नवम्बर 16, 2010 को 8:02 पूर्वाह्न

    बहुत बढ़िया चित्रों और रिपोर्ट के लिए आभार पद्म !

    SUMIT PRATAP SINGH said:
    नवम्बर 25, 2010 को 7:35 अपराह्न

    ब्लोगर सम्मलेन अच्छी प्रकार से संपन्न होने के लिए शुभकामनाएं. आपकी रिपोर्ट अच्छी लगी…

    नरेश सिंह said:
    दिसम्बर 1, 2010 को 11:24 पूर्वाह्न

    समस्त जानकारी तो पहले भी पढ़ चुका था लेकिन जो चित्र आपने लिये है वो अभी तक नहीं देखे थे | बहुत बढ़िया चित्र है | आभार

    प्रवीण त्रिवेदी ╬ PRAVEEN TRIVEDI said:
    दिसम्बर 7, 2010 को 7:52 अपराह्न

    हूँ !
    यह पोस्ट कैसे रह गयी पढ़ने से ?

    बधाई कि आप ऐसे आयोजनों में शामिल हो सके !

    संजय भास्कर said:
    दिसम्बर 8, 2010 को 7:57 पूर्वाह्न

    आपकी रिपोर्ट अच्छी लगी…

    संजय भास्कर said:
    दिसम्बर 8, 2010 को 7:58 पूर्वाह्न

    पहली बार पढ़ रहा हूँ आपको और भविष्य में भी पढना चाहूँगा सो आपका फालोवर बन रहा हूँ ! शुभकामनायें

    projektowanie stron said:
    फ़रवरी 27, 2011 को 2:00 पूर्वाह्न

    I like this website so much, saved to fav.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s